Lyrics

Kahin To Milegi Lyrics From Milan [English Translation]

Lyrics Gem

Kahin To Milegi Lyrics: The song ‘Kahin To Milegi’ from the Bollywood movie ‘Milan’ in the voice of Abhijeet Bhattacharya. The song lyrics were penned by Sameer, and the song music is composed by Anand Shrivastav, and Milind Shrivastav. It was released in 1995 on behalf of Venus.The Music Video Features Jackie Shroff & Manisha KoiralaArtist: Abhijeet BhattacharyaLyrics: SameerComposed: Anand Shrivastav & Milind ShrivastavMovie/Album: MilanLength: 5:08Released: 1995Label: Venus

Kahin To Milegi Lyrics

कही तो मिलेगी मोहब्बत की मंज़िल
ये दिल का मुसाफिर चला जा रहा है
कही तो मिलेगी मोहब्बत की मंज़िल
ये दिल का मुसाफिर चला जा रहा है
नज़र में सजी है
उम्मीदों का सूरज ढला जा रहा हैजल के भुजे ज़िन्दगी की शाम
खो जाये दिन क्या पता कब कहा
जल के भुजे ज़िन्दगी की शाम
खो जाये दिन क्या पता कब कहा
है ये कैसी डगर है ये कैसा सफर
न किसी को पता न किसी को खबर
है तूफा में कसती बड़ी दूर साहिल
ये दिल का मुसाफिर चला जा रहा हैपल न रुके एक पल के लिए
जीता रहे प्यार कल के लिए
पल न रुके एक पल के लिए
जीता रहे प्यार कल के लिए
करे कोई सितम मिले कोई सजा
दिल भूले नहीं कभी पहली वफ़ा
जो हरे न हिमत करे सब वो हासिल
ये दिल का मुसाफिर चला जा रहा है
कही तो मिलेगी मोहब्बत की मंज़िल
ये दिल का मुसाफिर चला जा रहा है

Kahin To Milegi Lyrics English Translation

कही तो मिलेगी मोहब्बत की मंज़िल
Somewhere the destination of love will be found
ये दिल का मुसाफिर चला जा रहा है
This traveler of the heart is leaving
कही तो मिलेगी मोहब्बत की मंज़िल
Somewhere the destination of love will be found
ये दिल का मुसाफिर चला जा रहा है
This traveler of the heart is leaving
नज़र में सजी है
adorned in sight
उम्मीदों का सूरज ढला जा रहा है
the sun of hope is setting
जल के भुजे ज़िन्दगी की शाम
the evening of life in the arms of water
खो जाये दिन क्या पता कब कहा
Don’t know when the day will be lost
जल के भुजे ज़िन्दगी की शाम
the evening of life in the arms of water
खो जाये दिन क्या पता कब कहा
Don’t know when the day will be lost
है ये कैसी डगर है ये कैसा सफर
What kind of path is this, what kind of journey is this
न किसी को पता न किसी को खबर
no one knows no news
है तूफा में कसती बड़ी दूर साहिल
There is a very distant coast that tightens in the storm
ये दिल का मुसाफिर चला जा रहा है
This traveler of the heart is leaving
पल न रुके एक पल के लिए
don’t stop for a second
जीता रहे प्यार कल के लिए
live love for tomorrow
पल न रुके एक पल के लिए
don’t stop for a second
जीता रहे प्यार कल के लिए
live love for tomorrow
करे कोई सितम मिले कोई सजा
Do some torture and get some punishment
दिल भूले नहीं कभी पहली वफ़ा
heart never forgets first loyalty
जो हरे न हिमत करे सब वो हासिल
Those who dare not give up, achieve everything.
ये दिल का मुसाफिर चला जा रहा है
This traveler of the heart is leaving
कही तो मिलेगी मोहब्बत की मंज़िल
Somewhere the destination of love will be found
ये दिल का मुसाफिर चला जा रहा है
This traveler of the heart is leaving

Darshan Shah
the authorDarshan Shah